Super 31

 शहर के लक्ष्मीबाई काॅलोनी में विगत 17 वर्षों से कैमिस्ट्री विषय कर छात्रों को अध्ययन करा रहे पवन सर ने बताया कि बहुत सारे छात्रों ने ग्वालियर शहर के शिक्षण संस्थान में IIT में अच्छे परिणाम दिये जिसमें से पवन सर के छात्रों ने बढ़ चढ़ कर चयन दिये लेकिन जो परिणाम NEET में मिलने चाहिये थे वे नहीं मिल सके । इसलिये पवन सर ने संकल्प किया कि जो छात्र आर्थिक रुप से कमजोर लेकिन मानसिक रुप से मजबूत है उनके लिये सुपर-31 का गठन किया इसमें टेस्ट के प्रतिशत के माध्यम से ट्यूशन फीस में 100 प्रतिशत तक माफ है इसमें चयन के लिये प्रत्येक विषय के एक्सपर्ट और बायोलाॅजी विषय के लिये विशेष रुप से तीन चिकित्सक एक्सपर्ट है क्योकि बायोलाॅजी और कैमिस्ट्री से ही NEET में सिलेक्शन होता है जिसके लिये सुपर-31 में 31 छात्रों का चयन किया जायेगा और सिलेक्शन शत् प्रतिशत मिलने की संभावना रहेगी जिससे ग्वालियर शहर के छात्र पूरे भारत और सम्पूर्ण विश्व में अपनी चिकित्सा का लाभ दे सकें क्योंकि IIT के स्टूडेंट संपूर्ण विश्व में अपनी छवि प्रदान कर चुके ऐसा हमारा मानना है कि IIT के साथ-साथ NEET में छात्र बढ़ चढ कर भाग लें और जो ग्राफ पिछले कुछ वर्षों से नीचे आया है इसे सुपर-31 के माध्यम से एक नया आयाम मिले । ग्वालियर शहर में NEET Entrance Exam की तैयारी के लिये छोटे-2 गांव, कस्वे और महानगरों से डाॅक्टर का सपना लेकर हजारों छात्र आते है लेकिन 98 से 98.5 प्रतिशत छात्रों का सपना साकार नहीं हो रहा क्योंकि ग्वालियर शहर के शिक्षण संस्थान का एक ही मकसद है ज्यादा से ज्यादा धन अर्जित करना । शुरुआत में एक दो सरल अध्याय पढ़ाकर उल्लू बना दिया जाता है क्योंकि पहले तो MPPMT होती थी और उसमें सिलेक्शन के माध्यम से यहाॅं के शिक्षण संस्थान भी अपनी रोटियाॅं सेकते रहे, इसी प्रकार यहाॅं की Biology Subject के Teacher बहुत कमजोर साबित हुए । अब Exam का Pattern बदल चुका है क्योंकि All India Level के Exam होते है इसमें छात्रों को अपनी जगह बनाने के लिये अपना Self और एैसे संस्थान का चयन करना चाहिये जो आपके लिये 24 घण्टे तैयार खड़ा है उनका चयन अवश्य करें क्योंकि एक साल या पैसों का सवाल नहीं है ये आपकी जिन्दगी का सवाल है क्या आपके साथ धोखा तो नहीं हो रहा ? सीधे प्रवेश लेने पर ड्राॅपर और आर्थिक रुप से कमजोर छात्रों की फीस में 50% छूट दी जायेगी सीमित समय ।